कला संकाय-

कला संकाय में 4 अक्टूबर 1971 से स्नातक स्तर पर शिक्षण कार्य आरम्भ हुआ| कला संकाय स्नातक स्तर पर उत्तर प्रदेश शासन द्वारा अनुदानित है | इस समय महाविद्यालय के कला संकाय के स्नातक स्तर पर लगभग 3000 छात्र पंजीकृत है | उत्तर प्रदेश शासन के अनुदान के अंतर्गत विश्वविद्यालय द्वारा बी० ए० प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु 960 छात्रों की अनुमति प्राप्त है |

विज्ञान संकाय -

1995 में स्नातक स्तर पर बी० एस० सी० (बायो ग्रुप) और बी० एस० सी० (मैथ ग्रुप) में शिक्षण कार्य प्रारम्भ हुआ | एस प्रकार बी०एस०सी० में निम्नांकित में 5 विषयों में शिक्षण कार्य चल रहा है | बी० एस० सी० प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु स्ववित्त योजना के अन्तर्गत १२० छात्रों की अनुमति प्राप्त है | विज्ञान संकाय का अपना एक विशाल भव्य भवन है | एस भवन में सभी विषयों के अलग -अलग शिक्षण कक्ष एवं प्रयोगशालाये है जो फर्नीचर, कंप्यूटर एवं आधुनिक उपकरणों से पूर्णरूप से सुसज्जित हैं |

शिक्षा संकाय -

इस संकाय की स्थापना सन् 1998 ई० में हुई | बी० एड० संकाय में कुल सीटों की संख्या 60 है | इसमे प्रवेश शासन/विश्वविधालय द्वारा अयोजित प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाता है | बे. एड. सम्बन्धी समस्त जानकारी प्रो. राम प्रसाद दिवेदी-निदेशक शिक्षा संकाय से प्राप्त करे | इस संकाय का भी अपना एक विशाल भवन है | जिसमे शिक्षण कक्ष, प्रयोगशालाएँ, शिक्षक कक्ष एवं लिपिक कक्ष है | ये सभी कक्ष पूर्णरूप से फर्नीचरों, आधुनिक उपकरणों एवं कम्प्यूटरो से सुसज्जित है |